fbpx
Benefits of Gomti chakkra
Share:
Benefits of Gomti chakkra

Silver Natural Gomthi Chakra Pendant 100% Original Gomti chakkra

Benefits of Gomti chakkra:-

गोमती चक्र क्‍या होता है

हांलाक‍ि गोमती चक्र कोई बहुमूल्‍य पत्‍थर नहीं है। माना जाता है कि गोमती नदी के तल मे पाये जाने के कारण इसका नाम  गोमती चक्र पड़ा है। सामान्‍य रूप से इसका प्रयोग विभिन्न तांत्रिक कार्यों तथा असाध्य रोगों में होता है। गोमती चक्र एक विशेष प्रकार का पत्थर है, जिसके एक तरफ चक्र की तरह आकृति बनी होती है। दीवाली, पर गोमती चक्रों की विशेष पूजा की जाती है। होली और नवरात्र जैसे अन्य मुहूर्तों पर भी इनकी पूजा लाभदायक मानी जाती है। कहते हैं क‍ि सर्वसिद्धि योग तथा रावेपुष्य योग आदि के समय पर इनकी पूजा करने पर ये बहुत फलदायक सिद्ध होते हैं।

गोमती चक्र से होने वाले लाभ/ Benefits of Gomti chakkra

मान्‍यता है क‍ि असाध्य रोगों को दूर करने तथा मानसिक शान्ति प्राप्त करने के लिये ये पत्‍थर अत्‍यंत उपयोगी होते हैं। कहते हैं क‍ि 10 गोमती चक्र रात भर पानी में भिगो कर सुबह उस पानी को पीने से पेट संबंधी विभिन्न रोग दूर होते है। इसी तरह धन लाभ के लिऐ 11 गोमती चक्र अपने पूजा स्थान मे रखें और उसके सामने ॐ श्री नमः का जाप करें। इससे काम करने में मन लगेगा और सफलता प्राप्त होगी। गोमती चक्रों को चांदी अथवा किसी अन्य धातु की डिब्बी में सिंदूर और अक्षत डालकर रखने से शीघ्र फल प्राप्‍त होता है।

दीपावली पर गोमती चक्र की पूजा होती है विशेष 

14 नवंबर 2019 का राशिफल: कर्क राशि वालों का बिजनेस प्लान सफल होगा, स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें

दिवाली पर गोमती चक्र की विशेष पूजा होती है। गोमती चक्र लक्ष्मी का स्वरुप है। इस दिन इनकी पूजा करने से व्‍यवसायियों को विशेष लाभ प्राप्‍त होता है। अगर धन की कमी है तो भी दिवाली के दिन गोमती चक्र के पूजन में प्रयोग से फायदा होता है। पूजा के लिए सफेद रंग के दो गोमती चक्र ले आयें और इन्‍हें मुख्य दीपक के तेल में डाल दें। अब मां लक्ष्मी से अखंड धन की प्रार्थना करें। दीपावली के अगले दिन सुबह गोमती चक्र को धन स्थान पर रख दें। ज्योतिषियों का मानना है कि दिवाली के दिन ये उपाय करने से लक्ष्मी जी की कृपा अवश्य मिलती है

गोमती चक्र का नाम हम सबने सुना है। तंत्र शास्त्र से लेकर वास्तु शास्त्र तक सभी ने इसके विशेष फायदे बताए हैं। आइए जानते हैं, गोमती चक्र के यह 5 चमत्कारी टोटके जो आपके जीवन की दिशा बदल देंगे। Benefits of Gomti chakkra
गोमती चक्र गोमती नदी में पाए जाने वाले अल्पमोली कैल्शियम मिश्रित पत्थर होते है।
इनके एक तरफ उठी हुई सतह होती है, और दूसरी तरफ चक्र होता है। इन चक्रों को लक्ष्मी जी का प्रतीक माना जाता है।
 1- यदि किसी व्यक्ति या बच्चे को बार-बार नजर लग जाती है, तो वह किसी निर्जन स्थान पर जाकर 3 गोमती चक्रों को अपने उपर से 7 बार उतार कर अपने पीछे फेंक दें और पीछे मुड़कर न देंखे। इस क्रिया को करने से कभी नजर दोष नहीं होगा।
2- यदि आपको निरन्तर आर्थिक हानि उठानी पड़ रही है, तो प्रथम सोमवार को 11 अभिमंत्रित गोमती चक्रों का हल्दी से तिलक करें और शंकर जी का ध्यान कर पीले कपड़ें में बांधकर पूरे घर में घुमाकर किसी बहते हुये जल में प्रवाहित करें। इसे करने से कुछ समय पश्चात ही लाभ मिलेगा।
3- यदि कोई बच्चा शीघ्र ही डर जाता है, तो प्रथम मंगलवार को अभिमंत्रित गोमती चक्र पर हनुमान जी के दाएं कन्धे का सिन्दूर लेकर तिलक कर किसी लाल कपड़े में बांधकर बच्चे के गले में पहना दें। बच्चे का डरना समाप्त होगा।
4- यदि आपके व्यवसाय में किसी की नजर लग जाती है, तो 11 अभिमंत्रित गोमती चक्र और तीन छोटे नारियल को पूजा करने के बाद पीले वस्त्र में बांधकर मुख्यद्वार पर लटका दें। इसके बाद आपके व्यवसाय को कभी नजर नहीं लगेगी।
5- यदि आपके हाथों से खर्च अधिक होता है, तो प्रथम शुक्रवार को 11 अभिमंत्रित गोमती चक्रों को पीले कपड़े पर रखकर मां लक्ष्मी का स्मरण कर विधिवत पूजन करें। दूसरे दिन उनमें से 4 गोमती चक्र उठाकर घर के चारों कोनों में एक-2 दबा दें और 3 गोमती चक्र को लाल चस्त्र में बांधकर धन रखने के स्थान पर रख दें तथा 3 चक्रों को पूजा स्थल में रख्र दें। शेष बचें एक चक्र को किसी मन्दिर में अपनी समस्या निवेदन के साथ भगवान को अर्पित कर दें। यह प्रयोग करने से कुछ समय में लाभ दिखने लगेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

X